Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

Amenorrhoea (मसिक धर्म का न आना)


Introduction परिचय –

amenorrhoea अर्थात menses का न आना या कम आना amenorrhoea कहलाता है।

प्रत्येक माह 28 दिन में menses का आना और 3 से 5 दिन का menses का होना स्वास्थ की निशानी है। भारतवर्ष में महिलाओं को menses 12- 13 वर्ष से प्रारंभ होकर 40 से 45 वर्ष उम्र तक menses होता है।

यह सामान्य स्वास्थ की निशानी है। menses का न होना amenorrhoea कहलाता है।


Types of Amenorrhoea

physiological

12 वर्ष से पहले menses होता ही नहीं

pregnency के समय menses नहीं होता।

बच्चों को दूध पिलाने वाली माता को menses नहीं होता

menopous 45 वर्ष के बाद menses नहीं होता


pathological

primary amenorrhoea –

युवावस्था से प्रारंभ होने के बाद भी menses का न आना यह निम्न कारणों से होता है-

Reproductive organ का विकास न होना

pituitary gland का secration कम होना तथा बच्चे का विकास ठीक से न होना।

युवावस्था देर से होना

mental debility


Secondary amenorrhoea-

menses का एक बार कम से कम आना बाद में नहीं आना secondory amenorrhoea कहलाता है।

reproductive organ में obstruction


hystractomy


ovary का rediation


pituitory gland की परेशानी thyroid problems


diabatic


कुपोषण


obesity मोटापा


tuberculosis


Diagnosis-

menses का लक्षण के आधार पर तथा QRMA टेस्ट द्वारा करते हैं।


Management

physical work


योग


balance deit

चिकित्सक से मिलने की जानकारी -👇

डॉ राधिका, अनमोल हेल्थ केयर संतोषी नगर होटल सुकून के पास, रायपुर

प्रत्येक महीने की 2 तारीख को अनमोल हेल्थ केयर सारँगढ़ ब्रांच में सुबह 11 से शाम 6 बजे तक

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777