Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

देशी गाय का दूध-

देशी गाय का दूध स्वादिश्ट, रुचिकर, स्निग्ध, बलकारक, अतिपथ्य,कांतिप्रद, बुद्धि, प्रज्ञा, मेधा कफ, तुश्टि, पुश्टि वीर्य और ओज को बढ़ाने वाला, आयु को दृढ़ करने वाला, हृदय रसायन, गुरु, पुरुशत्व प्रदान करनेवाला होता है। जहाँ दूध शब्द का प्रयोग होता है वहाँ उसे गाय का ही दूध मानना चाहिये। देशी गाय का दूध संतुलित रूप से शरीर का विकास करता है।

देशी गाय का दही-

स्वादिश्ट, बलवर्धक, रुचिकर, तेजस्वी, दीपन, पौश्टिक, मीठा,ग्राह्य अर्श का नाश करने वाला है। डायबिटीज (मधुमेह) के रोगी द्वारा नियमित रूप से देशी गाय के दूध का बना ताजा दही 100 ग्राम सेवन करने से शरीर में स्फुर्ति रहेगी। इससे यह रोग पूर्णतया मिट सकता है।

देशी गाय की छाछ-

जठराग्नि को प्रदीप्त करने वाली और त्रिदोश तथा अर्शका नाश करनेवाली होती है। साधारण छाछ स्वादिश्ट, ग्राही, खट्टी, तुर्श, लघु, गरम, पाक के समय मधुर, तीखी,रुखी,बलप्रद, तृप्तिकर, हृदय को बल प्रदान करने वाली, रूचिकर और शरीर को कृश बनाने वाली होती है।

देशी गाय का घी-

आयुवर्द्धक, बुद्धिवर्द्धक, शुक्रवर्धक, रस और पाक में स्वादिश्ट,जठराग्नि को प्रदीप्त करने वाला,स्निग्ध, सुगन्धित,रुचिकर, नेत्रों की ज्योति बढ़ाने वाला, कांतिकारक, वृश्य और मेघा, लावण्य, स्वरकारक, हृदय, तेज और बल देने वाला होता है। बालकों,वृद्धों तथा कमजोरों के लिये ठोस,वात,पित्त,कफ,दमा,विश आदि दोशो का नाश करता है।

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777