Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

Dr. Manish (Ayush Dental) बताते हैं कि

दन्त दर्द को Toothacheया दांतो का दर्द इत्यादि नाम से भी जाना जाता हैं। जिसका तात्पर्य ऐसे दर्द से है जो या तो किसी दांतो की बीमारी के या फिर अन्य कारणों जैसे अनियमित रुप से सोने – खाने , गतिविधियां इत्यादि की वजह से होता है।

लक्षण :-

1 दांतो में लगातार रुक – रुक कर दर्द होना :- यह दंत दर्द का प्रमुख लक्षण है। जिसमें व्यक्ति के दांतों में लगातार या रुक रुक कर दर्द होता है।

2 दांतो में सूजन का होना :- यदि किसी व्यक्ति के दांतों में सूजन हो जाती है तो उसे इसकी सूचना अपने दंत चिकित्सक को देनी चाहिए।

3 बुखार या सिरदर्द का होना :- अक्सर ऐसा देखा गया है कि दांतो में दर्द होने पर व्यक्ति को बुखार या सिरदर्द हो जाता है।इन समस्या को दवा के द्वारा ठीक किया जा सकता है।

4 किसी भी चीज के स्वाद का पता न चलना :- यदि किसी शख्स को किसी चीज का स्वाद अचानक से आना बंद हो जाता है तो यह दंत दर्द का कारण बन जाता है।

5 किसी चीज को निगलने में तकलीफ होना :- दंत दर्द होने पर लोगो को निगलने में परेशानी होने लगती है।

कारण :-

1.दांत की सड़न का होना :- दांतो का दर्द कई बार दांतो की सड़न की वजह से भी हो सकता है।

2 दांत में चोंट का लगना :- यदि किसी व्यक्ति के दांतों पर चोंट लग जाती है तो इसकी वजह से उसके दांतो में दर्द हो सकता है इसलिए तुरंत जांच कराना चाहिये।

3 दांत को गलत तरीके से साफ करना :- कुछ लोग दाँत की सफाई गलत तरीके से करते हैं इसकी वजह से उनके दाँत कमजोर हो जाते हैं। इसी कारण सभी लोगो को सही तरीके से ब्रश करनी चाहिए।ताकि दाँत मजबूत रहे।

4 दांतो को पिसना :- दाँत दर्द उनमे होती है जो दांत को पिसता रहता है। इसकी वजह से दांत कमजोर हो जाते है।

5 ठंडी – ठंडी , गरम चीजो को अधिक मात्रा में खाना :- यदि कोई व्यक्ति अलग – अलग स्वाद की चीजों का सेवन करता है तो इसके असर दांतो पर बुरा पड़ता है।

रोकथाम :-

1.पौष्टिक भोजन करना :- भोजन का हमारी सेहत पर सीधा असर पड़ता है। यह बात दांतो के संदर्भ पर भी सही प्रतीत होती है। ऐसा भोजन करे जो दांतो के लिए ठीक हो।

2 दांतों की सफाई सही तरीके से करना :- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि दन्त दर्द दांतो की सही तरीके से सफाई न करने की वजह से होता है।

3 माउथवॉश का इस्तेमाल करना :- माउथवॉश का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि कोई भी संक्रमण उसके मुंह में किसी तरह की जीवाणु उत्पन्न न हो सके ।

4 नशीले पदार्थों का सेवन न करना :- नशीले पदार्थ का सेवन करना नुकसान साबित हो सकता है। नशीले पदार्थ का सभी लोगो को परहेज करना चाहिए।

5 दांतो की जांच नियमित रूप से करनी चाहिये :- जब किसी व्यक्ति को दांतों में परेशानी होती है तो उसे डॉक्टर से जांच करा लेनी चाहिए।

10 प्राकृतिक चीजों से दर्द को किया जा सकता हैं नियन्त्रित

Garlic (लहसुन)

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Onion (प्याज)

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Clow (लौंग)

प्रभावित स्थान पर सीधे रस अथवा चूर्ण का प्रयोग

Mallow

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Chammomile

ये बहुत ही common मेडिसिन है जिसे इलेक्ट्रोहोम्यो पैथी की दवाइयां बनाने में भी प्रयोग में लिया जाता है , न मिलने की स्थिति में आप इसे सीधे इलेक्ट्रोहोम्योपैथी के चिकित्सकों से संपर्क कर ले सकते हैं, प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Paper mint (पुदीना)

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Bach flower Remedy

Bach Flowers Remedy फूलों के अर्क पर आश्रित पध्दति है, जिसमें Crane Apple & Impatient नामक औषधि दांत के दर्द में अधिक प्रयोग की जाती है प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Cabbage

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Vanila

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

Devil’s claw (Harpagophytum procumbens)

प्रभावित स्थान पर सीधे रस का प्रयोग

जटिल एवं आसाध्य रोगों का वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति द्वारा उपचार

अनमोल हेल्थ केयर

डॉ हलधर पटेल एवं समूह

9098472777

अपने संपर्क में जरूर साझा करें धन्यवाद

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777