Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

Physiology मानव शरीर क्रिया विज्ञान


डॉ राधिका ने बताया कि इस विषय के अंतर्गत मानव शरीर मे होने वाली क्रियाओ/कार्यों का अध्ययन किया जाता हैं। इसे मानव शरीर क्रिया विज्ञान ( physiology) कहा जाता है। जिसमे बहुत से तंत्र आपस मे कार्य करते हैं


मानव शरीर तंत्र —

1 पाचन तंत्र — digestive system

इस तंत्र के द्वारा मानव शरीर की पाचन क्रिया सम्पन्न होती है। पाचन क्रिया मानव शरीर का महत्वपूर्ण क्रिया है


2– श्वसन तंत्र–Respiratory/ pulmonary system

मानव शरीर में स्वास लेना और स्वास छोड़ने कि क्रिया होती है। इसमे श्वसन और निश्वासन 2 क्रियाये होती है।


3 उत्सर्जन तंत्र– excratory system–

इस तंत्र द्वारा मानव शरीर मे यूरीन / मूत्र निष्कासित होना मल निष्कासित होना पसीना निकलना यह क्रियाये होती है।


4, रक्त परिसंचरण संस्थान–

blood circulatory system — इस system में मानव शरीर मे रक्त का supply / संचरण होता है ।


5, तंत्रिका तंत्र– nervous system —

इसका भी मानव शरीर महत्वपूर्ण रोल है नर्वस सिस्टम में मानव शरीर के अंगो की क्रियाओ को नियमित और नियंत्रित करती है।


6, अस्थि संस्थान / कंकाल तंत्र–

skeleton system– इस तंत्र को मानव शरीर की हड्डियों / bones तथा संधियों / joints को कंकाल तंत्र कहा जाता है।


7, पेशीय संस्थान– muscular system-

– शरीर का सम्पूर्ण ढांचा muscles से ढका होता है जिन्हें सामुहिक रूप से पेशीय संस्थान / muscular system कहते है।


8, लसिका तंत्र– lymphatic system —

मानव शरीर में blood supply के समान ही lympatic system होता है। इसमें lymph, lymph vessels, lymph nodes का समावेश होता है।


9,रोगक्षमता तंत्र– immunity सिस्टम–

यह मानव शरीर का वह तंत्र है जिससे मानव शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है इसलिए इसे रोग प्रतिरोधक क्षमता तन्त्र भी कहते हैं।


10, अंतः स्त्रावी संस्थान — endocrine system —

इस सिस्टम के अंतर्गत manav शरीर की hormonal गतिविधियों का अध्ययन करते हैं।


11, जनन संस्थान (Reproductive System)

इस संस्थान का संबंध संतानुत्पत्ति से है। इसके अंतर्गत पुरुष स्त्री के जननांगो का समावेश होता है।

डॉ राधिका ने बताया कि ऐसे ही शरीर की जानकारी मेरे द्वारा रोज दी जाएगी

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777