Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

कब्ज ( Constipation )

कब्ज पाचन तंत्र से जुड़ी एक समस्या है। जिसे कब्ज , मलावरोध , मलबन्ध और कांस्टिपेशन इत्यादि नामों से जाना जाता है । इससे पीड़ित व्यक्ति का पेट ठीक से साफ नहीं हो पाता कब्ज के कारण अवरोही आंतों में तरल पदार्थों के अवशोषण में अधिक समय लगने के कारण उनमे शुष्क व कठोर मल अधिक एकत्रित होने लगता है। जिसकी वजह से उस व्यक्ति को मल त्याग करने में काफी परेशानी होती है। रोगी को शौच साफ नहीं होता है , मल सूखा और कम मात्रा में निकलता है।शौच कुंथन करने या घण्टों बैठे रहने पर निकलता है। जहाँ आम तौर पर लोग दिन में कम से कम एक बार शौच करते हैं। वहीं कब्ज का मरीज कई दिनों तक मल त्याग नहीं कर पाता।

कब्ज का कारण :-

1 भोजन का ठीक प्रकार से न पचना जो कि कई चीजों पर निर्भर करता है जैसे कि गरिष्ठ भोजन करना , जल्दीबाजी में भोजन करना, खाना खाते समय अधिक जल ग्रहण करना।

2अगर आप निश्चित मात्रा से कम पानी का सेवन करते हैं तो आप कब्ज से ग्रसित हो सकते हैं।

3 भोजन में मिर्च मसाले वाले खाद्य पदार्थो का अधिक सेवन , चाय, कॉफी बहुत ज्यादा पीना, धूम्रपान करना व शराब पीना इत्यादि कब्ज का कारण बन सकती है।

4 मल तथा पेशाब के वेग को रोकना , व्यायाम तथा शारिरिक श्रम न करना , खून की कमी और अधिक सोने के कारण भी कब्ज रोग हो सकता है।

लक्षण :-

1 कब्ज बनने पर शौच खुलकर नहीं आती, जिससे पेट मे दर्द होता रहता है।

2 सिर तथा कमर में दर्द , आलस्य, सुस्ती, चिड़चिड़ापन, मानसिक तनाव सम्बन्धी लक्षण भी मिलते हैं बहुत दिनों तक मलावरोध की शिकायत रहने से रोगी को बवासीर भी हो जाता है।

3 रोगी को कई अन्य रोग भी हो जाते हैं जैसे पेट मे सूजन , मुँहासे, मुँह के छाले, अम्लता , गठिया व उच्च रक्त चाप आदि।

जटिल एवं आसाध्य रोगों का वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति द्वारा आसान समाधान।

सम्पर्क :- “अनमोल हेल्थ केयर “
“डॉ हलधर पटेल एवं समूह “
9098472777

“अपने संपर्क में जरूर साझा करें धन्यवाद।”

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777