Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

ब्लड कैंसर

ब्लड कैंसर यानी एक्यूट माईलाइड ल्यूकीमिया हो जाना । यह रक्त एवं बोन मैरो यानी अस्थिमज्जा का एक प्रकार का कैंसर है। दरअसल हमारी हड्डियों के अंदर पाई जाने वाली मज्जा ब्लड स्टेम सेल पैदा करता है। यह सेल्स विकास की प्रक्रिया में आगे बढ़कर परिपक्व होती है। इन्ही से सफेद रक्त कणिका संक्रमण से लड़ती है। लाल रक्त कणिका पूरे शरीर मे आक्सीजन पहुँचाती है और प्लेटलेट्स थक्का बनाकर रक्त को बहने से रोकती है।


बीमारी के बिगड़ने का स्वरूप :- एक्यूट माईलाइड ल्यूकीमिया में ऐसा विकार पैदा हो जाता है की सफेद रक्त कणिकाएँ मतलब वाईट ब्लड सेल्स परिपक्व होती ही नही।वही कई लाल रक्त कणिकाएँ और प्लेटलेट्स में भी खराबी आने लगती है और ऐसा होने पर शुरुआती दौरे में सही से ट्रीटमेंट नही किया जाए तो यह कैंसर बड़ी तेजी से बेहद खराब दशा में पहुँच जाता है।
ब्लड कैंसर की कोशिकाएं धीरे धीरे रक्त में फैलती जाती है।
“ल्यूकीमिया , लिम्फोमा और मल्टीपल मायलोमा” इसके प्रकार हैं।
बुखार , चक्कर आना , रात में पसीना आना इसके कारण है।
ब्लड कैंसर कोशिकाओं में उतपरिवर्तन के कारण शुरू होता है जो कि रक्त या अस्थि मज्जा (बोन मैरो) में होता है। यह रक्त में धीरे धीरे फैलती है। रक्त कैंसर की ये कोशिकाएं समाप्त नही होती हैं बल्कि और गम्भीर हो जाती है। रक्त कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन 30 साल के बाद रक्त कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है । ब्लड कैंसर होने पर हड्डियों और जोड़ो में दर्द होने लगता है। बुखार आना , चक्कर आना , बार बार संक्रमण , रात को पसीना और वजन कम होना रक्त कैंसर के प्रमुख लक्षण हैं।

जटिल एवं आसाध्य रोगों का वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति द्वारा आसान समाधान ।

सम्पर्क :- “अनमोल हेल्थ केयर छत्तीसगढ़”

“डॉ हलधर पटेल”
9098472777

“अपने संपर्क में जरूर साझा करें धन्यवाद।”

CategoryUncategorized
Tags
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777