Open/Close Menu Dr. Haldhar Patel | Anmol Health Care

मुँहासे

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी और दूषित वातावरण के कारण किशोर अवस्था के लोग कील मुँहासे से काफी परेशानी है। जबकि किशोर अवस्था मे इन कील मुँहासों को कोई भी पसन्द नहीं करता । अधिकतर लोगों का मानना है कि मुँहासे होना एक खास उम्र का असर है और उम्र बढ़ने के साथ – साथ मुहाँसे भी अपने आप ठीक हो जाते हैं । कुछ हद तक ये बात सच भी है क्योंकि किशोर अवस्था मे शरीर मे अनेक बदलाव देखने को मिलते है और हार्मोंस का भी स्तर कम ज्यादा होता रहता है।

मुहाँसे एक आम त्वचा का रोग है। मुहाँसे चेहरे , छाती , पीठ और मुँह पर ज्यादातर होते हैं । ऐसे तब होता है जब त्वचा के छिद्र तेल , मृत त्वचा कोशिकाओं और संक्रमण से बंद हो जाते हैं। मुहाँसे किसी भी अवस्था मे हो सकते हैं लेकिन यह 14 से 30 की उम्र में ज्यादा होते हैं। यह निकलते है तो काफी तकलीफ देय होते हैं और बाद में भी अपने नीसान त्वचा पर छोड़ जाते हैं।

मुहाँसे के प्रकार :-

1 पसदार मुहाँसे :- यह छोटे – छोटे दोनों के रूप में चेहरे पर उभरते हैं। यह लालिमा लिए गाल और नाक पर ज्यादा होते हैं। यह कंधे , पीठ और हाथ – पैर को भी प्रभावित कर सकते हैं।

2 कुछ लोगो मे मुहाँसे दाने के आकार से बड़े होकर अभद्रयुक्त होते हैं। इनमें दर्द , जलन , सूजन और लालिमा पाई जाती है।

3 किल मुहाँसे :- यह ऊपर से काला और नीचे से सफेद होता है। जब हम त्वचा को दबाते हैं तो यह किल के रूप में निकलता है। यह जहा से निकलता है वह जगह स्थाई छेद रूप में हो जाती है।

मुहांसो के कारण :-

1 त्वचा के छिद्रों के बंद होने के कारण वसा ग्रन्थियों से निकलने वाले स्त्राव का रुक जाना।

2 इस रोग की समस्या कई बार वंशानुगत भी हो सकती है।

3 यदि आपको पेट की समस्या है जैसे कब्ज या अन्य कोई समस्या तो भी मुहाँसे हो सकते हैं।

4 यह समस्या गलत खान – पान के कारण भी हो सकती है।

5 चेहरे पर अलग – अलग तरह के उपयोग और क्रीम का प्रयोग भी इस समस्या का कारण बनता है।

6 धूल , मिट्टी , पसीना और दूषित वातावरण भी इस समस्या का एक कारण है।

7 किशोरावस्था में हार्मोंस परिवर्त्तन होना भी मुहाँसे का कारण हो सकता है।

8 मानसिक तनाव व चिंता भी मुहाँसो का कारण हो सकता है।

9 तेलीय त्वचा के कारण भी मुहाँसे अधिक निकलते हैं।

10 अगर आप खाने में अधिक ऑयली , जंक फूड का प्रयोग करते हैं तो भी मुहाँसे हो सकते हैं।

मुहांसो के लक्षण ::- किसी भी त्वचा में मुहाँसो के लक्षण उसकी स्थिति की गम्भीरता पर निर्भर करते हैं जैसे –

1 छोटे – छोटे दानों का गाल और नाक के आस पास उभरना।

2 ऊपरी त्वचा की सतह के नीचे ठोस गांठो का बनना।

3 ऊपरी त्वचा के नीचे मवाद का भरना।

4 लाल धब्बे जो बालों के रोम – रोम में सूजन या संक्रमण का संकेत देते हैं।

जटिल एवं असाध्य रोगों का वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति द्वारा उपचार

अनमोल हेल्थ केयर

डॉ हलधर पटेल एवं समूह

9098472777

अपने संपर्क में जरूर साझा करें धन्यवाद।

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

For emergency cases        +91-9098472777